• Sat. Dec 9th, 2023

    AGRICULTURE MANGO / बेमौसम हुई बारिश से आम के पेड़ों में कीट और रोग के प्रकोप का ऐसे करें नियंत्रण

    ByA.K. SINGH

    Apr 3, 2023

    AGRICULTURE MANGO / आज़मगढ़ : आम का नाम लेते ही मन में एक लालच आ जाता है | आम को फलों का राजा कहा जाता है। इस साल पिछले साल की तुलना में आम में अधिक बौर आये हैं। पिछले दिनों हुई बारिश से आम की फसल प्रभावित हुई है और बौर भी अधिक झड़ गए हैं| इस बेमौसम हुई बारिश से कीट और रोग का प्रकोप बढ़ने की संभावना है । AGRICULTURE MANGO

    इस साल हर पेड़ में बौर आया हुआ है और टिकोरे भी लग चुके हैं। इस बार बदलते मौसम में बागवान ध्यान नहीं दिये तो आम के बौर काले पड़ जाएंगे और टिकोरे भी गिर जाएंगे जिससे बागवान को नुकसान होने की संभावना अधिक हो जाएगी। इसके लिए कृषि विज्ञान केंद्र कोटवा आजमगढ़ के प्रभारी अधिकारी प्रोफेसर डी.के.सिंह के नेतृत्व में कार्य कर रहे डॉ विजय कुमार विमल वैज्ञानिक उद्यान द्वारा बताया गया कि आम के पेड़ में आए हुए बौर में 4 से 5 प्रतिशत ही बौर मादा होते हैं बाकी नर होते हैं जिससे स्वाभाविक रूप से बौर गिरेंगे साथ ही इस बदलते मौसम में हापर कीट और भुनगा कीट के प्रकोप तेजी से हो रहा होगा। AGRICULTURE MANGO

    इसके लिए बागवान क्विनलफास 25 इ.सी. 1.5 मिली प्रति पेड़ पानी में घोलकर छिड़काव करें या फिर इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. 1मिली. प्रति 3 लीटर पानी की दर से मिलाकर छिड़काव करें। पाउडरी मिलड्यू या एंथ्रेक्नोज रोग की समस्या के लिए डाईनोंकैप 46 ई.सी. या फिर कैराथेन का स्प्रे करें। आंतरिक सड़न के नियंत्रण के लिए बोरेक्स 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। बागों में फल ना गिरे इसके लिए बागवान प्लेनोफिक्स (हार्मोन) का एक मिली. प्रति 4 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें और बाग में नमी बनाए रखें, ऐसा करने से इस बदलते मौसम में कीट, रोग आदि से निदान मिल सकेगा और बागवान अपने आम के बगीचे से अच्छी फलत प्राप्त कर सकेगा। AGRICULTURE MANGO

    See also  PMKSY YOJANA / प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अंतर्गत खेत तालाब योजना से किसानों की आय हो रही है दुगनी